विहिप ने कहा, राम मंदिर पर अनंतकाल तक इंतजार नहीं

0
7
file photo source: ANI

नई दिल्‍ली। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने बुधवार को कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए हिंदू समाज अनंतकाल तक अदालत के फैसले का इंतजार नहीं कर सकता। केंद्र सरकार को अदालती फैसले से पहले ही अध्‍यादेश लाकर इसे बनाना चाहिए। विहिप का ये बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस साक्षात्‍कार के बाद आया जिसमें उन्‍होंने कहा था कि राम मंदिर पर अदालती प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही कोई कदम उठाया जाएगा।

विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने बुधवार को एक संवाददाता सम्‍मेलन में कहा कि अदालत के फैसले का इंतजार बहुत लंबा हो जाएगा और हिंदू समाज इस तरह अनंतकाल तक इंतजार नहीं कर सकता। कुमार ने आगे कहा कि सरकार को इस पर अध्‍यादेश लाना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि विहिप मोदी सरकार के कार्यकाल में ही राम मंदिर पर फैसला चाहती है। कुमार ने आगे कहा कि वे राम मंदिर निर्माण के लिए प्रधानमंत्री मोदी को संसद में अध्‍यादेश लाने का अनुरोध करते रहेंगे।

आलोक कुमार ने आगे कहा कि राम मंदिर पर आगे की रणनीति प्रयागराज में लगने वाले कुंभ में तय की जाएगी। उन्‍होंने कहा कि 31 जनवरी को कुंभ मेले के दौरान धर्म संसद का आयोजन होगा। उस धर्म संसद में मौजूद संत राम मंदिर निर्माण पर आगे की रणनीति तय करेंगे और वहीं पर इस पर फैसला लिया जाएगा। इस धर्म संसद में संतों का जो फैसला होगा, वह विहिप को मान्‍य होगा और उसके अनुरूप कदम उठाने के लिए प्रतिबद्ध रहेंगे।

राम मंदिर मामले में उच्‍चतम न्‍यायालय में धीमी गति की सुनवाई का जिक्र करते हुए कार्यकारी अध्‍यक्ष ने कहा कि यह मुद्दा 69 साल से फंसा हुआ है। उन्‍होंने कहा कि उच्‍चतम न्‍यायालय में अभी तक न्‍यायाधीशों की खंडपीठ तक नहीं बनी, जहां राम मंदिर मुद्दे की सुनवाई होनी है।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here