मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत खारिज

0
3
Ranjan Gogoi. File Photo

नयी दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की आंतरिक जांच समिति ने आज भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत को खारिज कर दिया. जस्टिस एसए बोबडे की अध्यक्षता वाले इस पैनल में जस्टिस इंदु मल्होत्रा और जस्टिस इंदिरा बनर्जी शामिल थे. सुप्रीम कोर्ट की इस तीन सदस्यीय पैनल को चीफ जस्टिस के खिलाफ की गयी शिकायत का कोई प्रमाण नहीं मिला.

सुप्रीम कोर्ट के महासचिव की ओर से सोमवार को बयान जारी कर बताया गया कि पांच मई को आंतरिक समिति ने अपनी रिपोर्ट पांच मई को सौंपी थी. प्रक्रिया के तहत यह रिपोर्ट दूसरे मोस्ट सीनियर जज को सौंपी गयी और और उसकी एक काॅपी संबंधित जज यानी मुख्य न्यायाधीश को सौंपी गयी.

बयान में कहा गया कि आंतरिक जांच समिति को एक पूर्व कर्मचारी द्वारा इस वर्ष 19 अप्रैल को की गयी शिकायत में लगाए गए आरोपों का कोई ठोस आधार नहीं मिला. इस रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं किया जाएगा.

मालूम हो कि मुख्य न्यायाधीश के खिलाफ आरोप से संबंधित खबरों कुछ वेबसाइटों ने छापी. आरोप लगाने वाली महिला मुख्य न्यायाधीश के आवास स्थित कार्यालय में काम करती थी और उसके हलफनामे को आधार बनाकर मीडिया रिपोर्ट छापी गयी. खुद के खिलाफ आरोप को सुप्रीम कोर्ट ने अविश्वसनीय बताते हुए मामले की सुनवाई की थी और इसे साजिश बताया था. उन्होंने यह भी कहा था कि महिला का आपराधिक रिकार्ड रहा है और यह सब मुख्य न्यायाधीश के दफ्तर को निष्प्रभावी बनाने की कोशिश का हिस्सा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here