अहमद पटेल को सुप्रीम कोर्ट से झटका, राज्यसभा चुनाव मामले में ट्रायल का करना होगा सामना

0
15

नयी दिल्ली : कांग्रेस के कोषाध्यक्ष अहम पटेल को सुप्रीम कोर्ट ने राज्यसभा चुनाव मामले में गुजरात हाइकोर्ट के ट्रायल का सामना करने को कहा है. 2017 के राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार रहे अहमद पटेल का मुकाबला भाजपा के बलवंत सिंह राजपूत से था. शीर्ष अदालत ने गुरुवार को राज्यसभा चुनाव को लेकर भाजपा उम्मीदवार द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करने को कहा. इस संबंध में पटेल की याचिका को अदालत ने खारिज कर दिया. यह आदेश मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगई और जस्टिस के कौल की खंडपीठ ने दिया.

सुप्रीम कोर्ट ने 26 अक्तूबर, 2018 के गुजरात हाइकोर्ट के आदेश में दखल से इनकार कर दिया, जिसमें इस मामले में राजपूत की याचिका पर मामले की सुनवाई किये जाने की बात का उल्लेख था. हाइकोर्ट के इस फैसले के बाद अहमद पटेल ने सुप्रीम कोर्ट में अपील की. पटेल ने अपनी याचिका में कहा था कि चुनाव आयोग के फैसले को एक इलेक्शन पीटीशन से चैलेंज नहीं किया जा सकता है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले के नये सिरे से सुनवाई के लिए उसे हाइकोर्ट को रेफर कर दिया. पटेल ने हाइकोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी थी जिसमें राजपूत की चुनाव याचिका पर विचार करने पर सवाल उठाने वाली उनकी याचिका को खारिज कर दिया गया था.

बलवंत सिंह राजपूत ने अपनी याचिका में चुनाव आयोग के उस फैसले को चुनौती दी थी, जिसमें दो विद्रोही विधायकों के वोट को अवैध करार दिया गया था. उन्होंने सवाल उठाया था कि क्या उनके वोटों को गिना गया था, अगर ऐसा किया गया होता तो वे पटेल को चुनाव हरा देते. उन्होंने अपनी याचिका में यह भी कहा कि पटेल कांग्रेस विधायकों को चुनाव से पहले बेंगलुरु के रिसार्ट ले गये और यह वोट के बदले रिश्वत का मामला था.

सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में सभी पक्षों को अतिरिक्त दस्तावेज दाखिल करने को कहा है. कोर्ट ने कहा कि सभी पक्ष मौजूद हैं, इसलिए नोटिस जारी करने की जरूरत नहीं है, अगली सुनवाई फरवरी में होगी. इस बीच हाइकोर्ट इस मामले में सुनवाई को आगे बढा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here