हम लाहौर में जाकर बैठेंगे और कैलाश मानसरोवर के लिए चीन से इजाजत नहीं लेंगे : इंद्रेश कुमार

0
5
मुंबई में कश्मीर विषयक कार्यक्रम को संबोधित करते इंद्रेश कुमार. फोटो स्रोत : इंद्रेश कुमार का फेसबुक एकाउंट.

 

मुंबई  : भारतीय जनता पार्टी की वैचारिक व आंतरिक ऊर्जा का स्रोत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार ने अखंड भारत के सपने का जिक्र करते हुए बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि हम लाहौर में जाकर बैठेंगे और कैलाश मानसरोवर के लिए चीन से इजाजत नहीं लेंगे. इंद्रेश कुमार ने कश्मीर: आगे की राह विषयक गोष्ठी को संबोधित करते हुए शनिवार को कहा कि आप लिख कर लीजिए पाचं से सात साल बाद आप कराची, लाहौर, रावलपिंडी, सियालकोट में मकान खरीदेंगे और बिजनेस करने का मौका मिलेगा.

संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य इंद्रेश कुमार ने कहा कि 47 के पहले पाकिस्तान नहीं था, लोग कहते हैं कि 45 के पहले वह हिंदुस्तान था, 25 के बाद फिर से वह हिंदुस्तान होने वाला है.

उन्होंने एक ऐसे अखंड भारत की परिकल्पना, जहां यूरोपीय यूनियन की तरह देशों के बीच कोई सीमा नहीं हो का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि बांग्लादेश की सरकार भी इसके पक्ष में थी.

इंद्रेश कुमार ने कहा कि भारत सरकार ने पहली बार कश्मीर में सख्त लाइन ली है, क्योंकि सेना राजनीतिक इच्छाशक्ति पर कार्रवाई करती है. उन्होंने कहा कि हम लाहौर में जाकर बैठेंगे और कैलाश मानसरोवर के लिए चीन से इजाजत नहीं लेनी होगी.

आरएसएस नेता ने पुलावामा हमले और हालिया घटनाक्रम का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि चीन पाकिस्तान की मदद क्यों कर रहा है. उन्होंने कहा कि हम जानते हैं कि चीन पाकिस्तान को अपने में रखना चाहता है, चीन ने पाकिस्तान का समर्थन किया क्योंकि हमने उसे लड़ाई में बिना किसी बंदूक व गोली के हरा दिया. हमने डोकलाम से चीन को बाहर कर दिया. उन्होंने कहा कि दुनिया यह जानती है कि चीन अपराजित है, लेकिन हमने उसे हरा दिया और इसी कारण वह गुस्सा है.

इंद्रेश कुमार ने पुलवामा हमले के बाद भारत के जवाबी कार्रवाई का सबूत मांगे जाने पर कहा कि ऐसे लोगों के खिलाफ कानून होना चाहिए. उन्होंने कहा कि सेना की तारीफ करते-करते प्रूफ मांगने लगते हैं और मोदी का विरोध करते-करते आइ लव यू पाकिस्तान कहने लगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here