जालंधर साइंस कांग्रेस में बोले पीएम मोदी, इज ऑफ लिविंग के लिए करना होगा काम

0
16

जालंधर :   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पंजाब के जालंधर में भारतीय विज्ञान कांग्रेस ( इंडियन साइंस कांग्रेस ) का गुरूवार को उद्घाटन किया. इस वार्षिक समारोह में देश भर से आये वैज्ञानिक हिस्सा ले रहे हैं.पीएम मोदी ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि 1970 जगदीश चंद्र बोस ने भारत के पहले साइंटिफिक रिसर्च सेंटर की शुरुआत की. पीएम मोदी ने कहा कि भारत बदल रहा है और अपने भविष्य को सुरक्षित कर रहा हैः.

पीेएम मोदी ने कहा कि हमारे पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने नारा दिया था जय जवान जय किसान. उसके बाद पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने उसमें जय विज्ञान जोड़ा. मुझे लगता है कि समय आ गया है कि उसमें जय अनुसंधान जोड़ा जाए. हमारे पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने नारा दिया था जय जवान जय किसान. उसके बाद पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने उसमें जय विज्ञान जोड़ा. मुझे लगता है कि समय आ गया है कि उसमें जय अनुसंधान जोड़ा जाए. ईज ऑफ डूइंग बिजनस की तरह हमें अपने 125 करोड़ देशवासियों के ईज ऑफ लिविंग पर भी काम करने की जरूरत है. तेजी से बदल रही दुनिया में हमें टेक्नॉलजी को सामान्य मानवीय से जोड़ने की जरूरत है। अब हमें किसी और के लिए रुकने के लिए जरूरत नहीं है.

उन्नत भारत बनाने के लिए हमें भारत के विज्ञान को महात्वकांक्षी बनाना होगा. हमें सिर्फ रिसर्च करने के लिए रिसर्च नहीं करना है बल्कि उससे दुनिया को लाभ पहुंचाने की कोशिश करना है. भारतीय वैज्ञानिकों का जीवन और कार्य प्रौद्योगिकी विकास और राष्ट्र निर्माण के साथ गहरी मौलिक अंतर्दृष्टि के एकीकरण का एक बेहतरीन उदाहरण है. किसी भी देश की Intellectual Creativity और Identity उसके इतिहास, कला, भाषा और संस्कृति से बनती है. ऐसे में हमें विधाओं के बंधन से मुक्त होकर शोध करना होगा. अब ऐसी रिसर्च की जरुरत है जिसमें Arts और Humanities, सोशल साइंस, साइंस और टेक्नोल़ॉजी के Innovation का Fusion हो. इसका आयोजन लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी की ओर से किया जा रहा है. यह तीन जनवरी से सात जनवरी तक चलेगा. इसमें प्रमुख ब्रिटेन, अमेरिका और भारत के कई प्रमुख विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधि शामिल होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here