नई दिल्ली। राफेल मामले पर दिनभर लोकसभा में चली बहस के बाद जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बाहर निकले तो मीडिया से कहा कि कई सारे सवाल उठे हैं, लेकिन सरकार ने एक का भी जवाब नहीं दिया है। कुछ का दिया भी तो अधूरा और टुकड़ों में दिया है।

हमारे बेसिक सवाल का जवाब कोई भी नहीं दे रहा है। रक्षामंत्री दो घंटे तक बोलीं, लेकिन उन्होंने अनिल अंबानी के संबंध में उठाए गए सवालों का कोई भी जवाब नहीं दिया है। हमने जब कहा था कि एयरफोर्स ने इस पर अपनी आपत्ति जताई थी तो उस समय पीएम ने क्या इसकी पूरी जांच की थी। जब सवाल का जवाब देने की बारी आई तो वे बहानेबाजी करने लगीं।

रक्षामंत्री ने यह अपने जवाब में कहा है कि उन्होंने 36 राफेल खरीदने के लिये एक नई डील शुरू की थी। उन्होंने इसे अपने बयान में मान लिया है। तब मैंने कहा था कि इस डील में जो भी लोग जुड़़े थे, उन्होंने अपनी आपत्ति जताई थी इस डील को लेकर। इस संबंध में रक्षामंत्री के पास कोई जवाब ही नहीं था।

संसद के बाहर राहुल ने एकबाऱ फिर से अपने आरोपों को सही बताया और कहा कि जो मौलिक सवाल हैं, उनका कोई जवाब नहीं दिया जा रहा है। जब भी मुद्दे की बात होती है तो एक भी मंत्री इसका सही जवाब नहीं दे पा रहा है। तब बहानेबाजी की जाती है। हमारे एक भी सवाल का जवाब न तो वित्तमंत्री दे सके और न रक्षा मंत्री।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here