मेहुल चोकसी की कंपनी गीतांजलि जेम्स को बेचने की तैयारी, यह है वजह

0
5

मुंबई : भगोड़ा ज्वेलरी कारोबारी मेहुल चोकसी द्वारा बैंकों का पैसा नहीं चुकाने पर उसकी कंपनी को बेचे जाने की तैयारियां चल रही है. इटी के अनुसार, कंपनी के रिजाॅल्यूशन प्रोफेशनल ने मंगलवार को यह जानकारी दी है कि सीओसी ने लोन रिजाल्यूशन के लिए समय सीमा बढाने से इनकार कर दिया है, इसलिए अब कंपनी को लिक्विडेट बेचा किया जाएगा. मेहुल की कंपनी गीतांजलि जेम्स के लिए 180 दिनों की कॉरपोरेट इनसॉल्वेंसी रिजॉल्यूशन प्रोसेस की समयसीमा 6 अप्रैल को खत्म हो गयी थी.

ऐसे में मेहुल की कंपनी बांबे स्टाॅक एक्सचेंज में लिक्विडेशन की ओर बढ रही है, क्योंकि उसे कर्ज देने वाले अधिकतर बैंकों ने समाधान प्रक्रिया को पूरा करने के लिए 180 दिनों की समय सीमा बढाने से मना कर दिया है. 28 मार्च को इस संबंध में बैंकों की समिति की बैठक हुई थी, जिसमें 54.14 प्रतिशत वोटिंग के तहत इससे इनकार कर दिया गया.

2018 के अक्तूबर में एनसीएलटी की मुंबई शाखा ने कंपनी के खिलाफ आइसीआइसीआइ बैंक की याचिका स्वीकार की थी. 890 करोड़ के कर्ज पर गीतांजलि जेम्स के डिफाल्ट करने के बाद बैंक ने एनसीएलटी में याचिका दायर की थी. मेहलु और उसके भांजे नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक का दो अरब डाॅलर घोटाला करने का आरोप है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here