जैश के आतंकियों का सुरक्षा बलों ने कर दिया सफाया तो मसूद अजहर इस नयी कवायद में जुटा, जानें

0
91
Maulana Masood Azhar. file photo

नयी दिल्ली : पुलवामा आतंकी हमले के गुनाहगार जैश ए मोहम्मद और उसके चीफ मसूद अजहर ने नयी कवायद शुरू कर दी है. मसूद अजहर लाइन आॅफ कंट्रोल के इर्द-गिर्द आतंकवाद की नयी पौध तैयार करने में लग गया है. जैश ए मोहम्मद लाइन आॅफ कंट्रोल के आसपास नये ठिकाने बना रहा है. इस कुख्यात आतंकी संगठन ने ऐसा काम ऐसे हाल में कर है जब 14 फरवरी के पुलवामा आतंकी हमले के बाद सुरक्षा बलों ने जम्म कश्मीर में ताबड़तोड़ कार्रवाई कर उसके अधिकतर आतंकियों को मार गिराया. ऐसे में जैश चीफ मसूद अजहर को अपनी गतिविधियों को चलाने व आतंक फैलाने के लिए नयी कवायद शुरू की है. मालूम हो कि भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके बालाकोट में जैश के सबसे बड़े प्रशिक्षण कैंप पर हमला कर ध्वस्त कर दिया था.

हालांकि जैश की इस कवायद के बीच सुरक्षा एजेंसियां व जम्मू कश्मीर पुलिस सक्रिय है और इसके काउंटर के उपाय की तैयार में है. जानकारी के अनुसार, जैश चीफ मसूद अजहर का भतीजा मोहम्मद उमर फरवरी में पुलवामा के आसपास देखा गया था, जिसके बाद सीआरपीएफ दस्ते पर आत्मघाती हमला हुआ था और हमारे 40 जवान शहीद हो गये थे. सूत्रों का कहना है कि या तो वह मारा जा चुका है या फिर वह पाकिस्तान चला गया है.

सूत्रों का यह भी कहना है कि जैश ए मोहम्मद का घाटी में लीडरशिप खत्म हो गया है, सिवाय एक उसका एक कमांडर जीवित बचा है जो मुन्ना बिहारी के कोड नेम से शोपियां जिले में सक्रिय है. इससे पहले सुरक्षा बलों ने अजहर के छोटे भाई इब्राहिम अतहर, सबसे छोटे बेटे उसमान हैदर और तलाह रशीद को मार गिराया. इतना ही नहीं पुलवामा हमले के बाद मसूद अजहर के साले अब्दुल रशीद कामरान के बेटे को भी मारा गिराया गया.

जैश के रंग ओ नूर चैनल के एक हालिया आॅडियो क्लिप में इब्राहिम अतहर यह इंगित करता प्रतीत होता है कि मोहम्मद उमैर मारा जा चुका है. वह अपने कैडर से यह कहते सुना जाता है कि उमैर व कामरान परलोक चला गया है.

सूत्रों के अनुसार, जैश के ज्यादातर नये लांच पैड कुपवाड़ा के उत्तर में लोलाब घाटी और श्रीनगर से लगभग 144 किलोमीटर दूर उत्तर पश्चिम में हैं. इसके जरिये वह आतंकी गतिविधियों को बढावा देने की कोशिश करेगा, लेकिन भारतीय सुरक्षा एजेंसियां भी सक्रिय हैं. मालूम हो कि 2016 में भारत ने जब पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक किया था तो वहां की सेना भारतीय स्ट्राइक से बचने के लिए कुछ आतंकी लांच पैड का सफाया किया था.

पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान पर आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई के लिए व्यापक अंतरराष्ट्रीय दबाव है. हालांकि उसने भारत के भगोड़े आतंकी दाउद इब्राहिम, इंडियन मुजाहिदीन के लोगों व सिख कट्टरपंथियों को अपने यहां आश्रय दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here