ये तीन किताबें – जो कम उम्र में ही पढ़ लेनी चाहिए

0
99

जब हम अपनी जिंदगी के परेशानियों से जूझ रहे होते हैं तो हम उनके उपाय खोजते हैं. कभी लोगों से बात कर तो कभी किताबों को पढ़कर. जीवन में तरक्की और समृद्धि के लिए कुछ मौलिक तत्व होते हैं. ऐसे मौलिक गुणों को किताबों के जरिये बहुत अच्छे ढंग से सीखा और समझा जा सकता है. कुछ किताबें ऐसी है जिसे हम कम उम्र में ही पढ़ लेनी चाहिए. आज ऐसी ही किताबों का जिक्र है. जिनके पढ़ने से आप आसानी से समझ पायेंगे कि क्यों कुछ लोग सफल होते जाते हैं और वहीं कुछ लोगों को लगातार असफलता ही हाथ लगती है.

लॉ ऑफ सक्सेस – नेपोलियन हिल
यह किताब एक किस्म से दुनिया के सभी मोटिवेशनल किताबों का जनक है. 1928 में आयी इस किताब में 16 चैप्टर है. खास बात यह कि उस वक्त के 100 से ज्यादा प्रभावशाली लोगों से बातचीत कर यह किताब लिखी गयी थी. इनमें थॉमस एडिसन, जे पी मार्गन, जॉन डी रॉकफेलर और एलेंक्जेंडर ग्राहम बेल भी शामिल है. ‘लॉ ऑफ सक्सेस’ जब आप पढ़ेंगे तो अहसास होगा कि जीवन में पहली बार नयी चीजों को पढ़ रहे हैं. अगर कायदे से देखा जाये तो इस किताब को स्कूल के कोर्स में शामिल किया जाना चाहिए. ऐसा कई शिक्षाविदों की राय है. 80 साल पहले लिखी गयी किताब आज भी लोकप्रिय है. 16 ऐसे गुणों का जिक्र है जो हर किसी के पास होना चाहिए.

हाउ टू विन एंड इन्फ्लूएंस पीपल – डेल कारनेगी
डेली कारनेगी ने भले ही इस किताब को 1936 में लिखा हो लेकिन यह एक कालजयी पुस्तक है. सेल्फ हेल्प बुक में यह श्रेष्ठ किताबों में शुमार है. टाइम मैगजीन ने इस 100 सबसे ज्यादा प्रभावशाली रचना में शामिल किया है. हाउ टू विन एंड इन्फ्लूयंस पीपल का हिंदी अनुवाद भी आ चुका है, बाजार में यह लोकव्यवहार के नाम से उपलब्ध है. मूलत: इसमें लोगों से बातचीत करने के तौर तरीकों का जिक्र है. हालांकि डेल कारनेगी की आलोचना भी हुई फिर भी इसकी बिक्री दुनियाभर में लगातार बढ़ती गयी.

रिच डैड, पुअर डैड – राबर्ट टी कियोसॉकी
अगर आप आर्थिक रूप से हमेशा कमजोर रहते हैं या पैसे को लेकर चिंता रहती है. तो राबर्ट टी कियोसॉकी की किताब पढ़ सकते हैं. कियोसॉकी के मुताबिक पैसे का मोह सभी बुराइयों की जड़ है, पैसे की कमी सभी बुराइयों की जड़ है. कियोसॉकी ने ‘रिच डैड, पुअर डैड’ और ‘कैश फ्लो क्वाड्रेंट’ जैसी किताबों को लिखा है. जो बेस्ट सेलर है. कियोसॉकी के मुताबिक अपने खर्चे काटने से ज्यादा ज़रूरी अपनी आमदनी बढ़ाना है. अपने सपनो को काटने से ज्यादा ज़रूरी अपने साहस को बढ़ाना है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here