इटालियन पत्रकार ने बताया, भारत ने बालाकोट एयर स्ट्राइक में कितने जैश आतंकी मारे

0
6
Francesca Marino.

 

नयी दिल्ली : इटली की एक बड़े पत्रकार ने भारत द्वारा फरवरी के आखिर में पाकिस्तान के कब्जे वाले बालाकोट में किए गए एयरस्ट्राइक में मारे गए आतंकियों की संख्या बतायी है. फ्रासिस्का मेरिनो नामक पत्रकार ने दावा किया है कि बालाकोट एयरस्ट्राइक में 130 से 170 के बीच आतंकी मारे गए हैं. उन्होंने कहा कि इसमें उनके 11 ट्रेनर भी मारे गए. ये आतंकी अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी मसूद अजहर के संगठन जैश-ए-मोहम्मद के थे.

14 फरवरी के पुलवामा आतंकी हमले के बाद जवाबी कार्रवाई के तहत भारत ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके में आतंकी कैंपों पर फाइटर जेट से आधी रात के बाद एयरस्ट्राइक किया था. इस हमले में जैश ए मोहम्मद के सबसे बड़े आतंकी कैंप बालाकोट को भारतीय एयरफोर्स ने पूरी तरह ध्वस्त कर दिया था.

मेरिनो ने अपनी रिपोर्ट में पुख्ता सूत्रों के हवाले से ये आंकड़े दिए हैं. सिनकियानी पाकिस्तान में एक आर्मी कैंप है, जो बालाकोट से महज 20 किलोमीटर की दूरी पर है. इन दोनों जगहों के बीच की दूरी 35 से 40 मिनट में तय की जा सकती है. सुबह साढे तीन बजे के हमले के बाद छह बजे इस कैंप से पाकिस्तानी आर्मी की एक टुकड़ी मौके पर पहुंची थी.

मेरिनो ने अपने सोर्स के हवाले से बताया है कि हमले के बाद 45 लोगों को हरकत-ए-मुहाहिदीन के कैंप स्थित अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया, जिसमें इलाज के दौरान 20 की मौत हो गयी. मेरिनो को अनुसार, बाद में घायल लोगोें को यहां से बाहर जाने की अनुमति नहीं दी गयी. ऐसा पाकिस्तान सरकार के द्वारा मीडिया ेमे ंखबर आने से रोकने के लिए किया गया.

मेरिनो ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि ट्रेनर अफगानिस्तान से आते थे, जो बम बनाते थे और हथियार चलाने का प्रशिक्षण देते थे. मेरिनो ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि जैश ने मारे गए आतंकियों के परिवार को मुआवजा दिया. उनके अनुसार, लोकल पुलिस को भी एयर स्ट्राइक वाली जगह पर जाने की इजाजत नहीं है. इसकी वजह है जैश का दबदबा. जैश का पाकिस्तान की आर्मी पर भी नियंत्रण है.

जानिए कौन हैं पत्रकार मेरिनो

फ्रासिस्का मेरिनो इटली की एक पत्रकार हैं, जिन्होंने 2010 में जमात-उद-दावा के चीफ आतंकवादी हाफिज सईद का इंटरव्यू लिया था. इस इंटरव्यू से वह चर्चा में आ गयी थीं. उन्होंने पाकिस्तान में आतंकियों को पनाह मिलने पर एक किताब Apocalypse Pakistan – Anatomy of the most dangerous country in the world लिखी, जो काफी चर्चित हुई. इस किताब के प्रकाशन के बाद पाकिस्तान ने उन पर अपने मुल्क में प्रतिबंध लगा दिया. इसकी जानकारी नहीं होने पर कराची पहुंचने पर उन्हें हिरासत में लिया गया था और देश छोड़ कर तुरंत जाने को कहा गया. वे दक्षिण एशिया मामलों की विशेषज्ञ हैं.

मेरिनो की वेबसाइट को हैक करने की कोशिश

यह खबर आने के बाद मेरिनो की वेबसाइट www.stringerasia.it को हैक करने का प्रयास किया गया है. उन्होंने ट्विटर पर इसकी जानकारी दी है और कहा है पुलिस को इस संबंध में सूचित किया गया है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here