गूगल व ऐपल ने TikTok को भारत में किया बैन, अश्लील सामग्री वाले इस ऐप के भारत में 39% यूजर्स

0
9

नयी दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट के आदेश मद्रास हाइकोर्ट के वीडियो मेकिंग एप टिकटाक पर बैन लगाने के आदेश पर रोक से इनकार करने के बाद गूगल और ऐपल ने इसे अपने-अपने प्लेटफार्म से हटा दिया है. मद्रास हाइकोर्ट के आदेश के बाद सरकार ने गूगल और ऐपल को अपने-अपने प्लेटफार्म से हटाने को कहा था. टिकटाॅक ने मद्रास हाइकोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी, लेकिन उसे वहां से राहत नहीं मिली. मद्रास हाइकोर्ट ने तीन अप्रैल को टिकटाॅक के जरिये अश्लील सामग्री की पहुंच पर चिंता जताते हुए सरकार को इस पर प्रतिबंध लगाने को कहा था.

मद्रास हाइकोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा था कि यह ऐप बच्चों पर बुरा असर डालता है और पाॅर्नोग्राफी को बढावा देता है. यह ऐप यूजर्स को यौन हिंसक बना रहा है. इस ऐप पर अश्लील कंटेंट शेयर करने का आरोप लगाते हुए इसके खिलाफ एक जनहित याचिका दायर की गयी थी, जिसके बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया.

गेगूल व ऐपल को सरकार की ओर से इस ऐप को हटाने के संबंध में पत्र लिखा गया था, जिसके जवाब में दोनों कंपनियों ने त्वरित कार्रवाई की. गूगल ने अपने एक बयान में कहा कि वह स्थानीय कानूनों का पालन करता है और ऐप पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता है.

हालांकि जिन लोगों ने अपने स्मार्टफोन पर यह ऐप डाउनलोड कर रखा हे वह अब भी इसका प्रयोग कर सकेंगे लेकिन नये तरीके से यह अब डाउनलोड नहीं किया जा सकेगा. सरकार का आइटी मंत्रालय इसे डाउनलोड करने से रोकने में मदद करेगा.

चीन की कंपनी Bytedance Technology ने लगाये गये बैन को हटाने के लिए अपील की थी, जिसे खारिज कर दिया. भारत में इसका बड़ा बाजार व यूजर्स बेस है. एक रिपोर्ट के मुताबिक यह दुनिया में तीसरा सबसे अधिक उपयोग किया जाने वाला ऐप है. टिकटाक ने मार्च तिमाही में 18.8 करोड़ नये यूजर्स जोड़े जिसमें अकेले भारत के 8.86 करोड़ यूजर्स थे. भारत की इस ऐप में 39 प्रतिशत यूजर्स बेस की हिस्सेदारी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here