मसूद अजहर की संपत्ति जब्त करेगा फ्रांस, यूरोपीय यूनियन की आतंकी सूची में भी कराएगा शामिल

0
7
Masood Azhar File Photo.

 

F

नयी दिल्ली : संयुक्त राष्ट्र संघ में चीन के वीटो के कारण जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर प्रतिबंध नहीं लग पाने के बाद अब इस मामले में फ्रांस कड़ा एक्शन लेने जा रहा है. रायटर्स की खबर के अनुसार, फ्रांस की सरकार ने कहा है कि वह आतंकवादी मसूद अजहर की संपत्तियां जब्त करेगा. मसूद अजहर के खिलाफ यह फ्रांस की अबतक की सबसे बड़ी कार्रवाई होगी. मालूम हो कि दो दिन पहले संयुक्त राष्ट्र संघ की प्रतिबंध समिति की बैठक में चीन ने 10 साल में चैथी बार अपने वीटो पावर का प्रयोग कर मसूद को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने व उस पर प्रतिबंध लगाने पर रोक लगा दी. चीन के इस कदम की दुनिया भर में आलोचना हुई है.

फ्रांस सरकार के गृह मंत्रालय एवं विदेश मंत्रालय के संयुक्त बयान में कहा गया है कि फ्रांस मसूद अजहर को यूरोपीय यूनियन के आतंकवादी सूची में शामिल करने को लेकर बात करेगा.

मालूम कि इस साल 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ दस्ते पर हमले की साजिश मसूद अजहर ने ही रची थी, जिसमें 40 जवान शहीद हो गये थे. इस हमले के बाद इसकी जिम्मेवारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी. इसके बाद फ्रांस, अमेरिका व इंग्लैंड ने उसके खिलाफ संयुक्त राष्ट्र संघ में प्रस्ताव लाने की बात कही और लाया भी. ये तीनों देश सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य हैं, लेकिन एक अन्य स्थायी सदस्य चीन ने अपने अधिकारों का प्रयोग कर इसका वीटो कर दिया.

उधर, भारतीय वायुसेना ने जैश के बालाकोट स्थित सबसे बड़े आतंकी शिविर पर हमला कर उसे नष्ट कर दिया.

चीन के रवैये को लेकर संयुक्त राष्ट्र संघ के राजनयिकों ने कल ही चीन को चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर वह अपने रवैये से बाज नहीं आता है तो वे अन्य कठोर कदम उठाने को बाध्य होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here