पुलवामा हमले के दोषी मसूद अजहर पर फिर चीन ने कही नयी बात, कहा – कोई डेडलाइन नहीं मिली

0
5
Maulana Masood Azhar. file photo

 

बीजिंग : अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी और भारत के पुलावामा में आतंकी हमले के साजिशकर्ता मसूद अजहर पर चीन की ओर से आज फिर बयान आया. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने आज कहा कि मसूद अजहर को ब्लैकलिस्ट करने मुद्दा एक समझौते की ओर बढ रहा है और अमेरिका को इस मामले में जोर नहीं देना चाहिए. चीन के प्रवक्ता ने उस रिपोर्ट को खारिज किया जिसमें यह कहा गया था कि अमेरिका, फ्रांस एवं ब्रिटेन ने चीन को मसूद अजहर पर अपने स्टैंड पर विचार करने के लिए 23 अप्रैल तक का वक्त दिया है अन्यथा वे इस मामले में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चर्चा व वोट के लिए एक औपचारिक प्रस्ताव भेजेंगे.

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा कि उसे इस संबंध में कोई डेडलाइन नहीं मिला है. चीन ने कहा है कि इस मामले में 1267 प्रतिबंध समिति में आम सहमति का प्रयास कर रहे हैं. पुलवामा आतंकी हमले के बाद मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करवाने, उसकी वैश्विक यात्राओं पर रोक एवं संपत्तियों को कुर्क करने व प्रतिबंध लगाने के लिए अमेरिका, फ्रांस एवं इंग्लैंड लगातार प्रयास कर रहे हैं. 13 तारीख को इस संबंध में प्रस्ताव को चीन ने चैथी बार प्रतिबंध समिति में वीटो कर दिया था.

चीन के प्रवक्ता लू कांग ने कहा कि हम इस मामले में संबंधित पक्षों से बात कर रहे हैं और उनसे संवाद में हैं और यह मामला सेटलमेंट की ओर बढ रहा है. चीन के प्रवक्ता ने इस बात पर एक बार फिर जोर दिया कि उनकी देश की नीति इस मामले में अपरिवर्तित है.

लू कांग ने 23 अप्रैल के डेडलाइन के पत्रकारों के सवालों पर कहा कि पता नहीं आप ये सूचनाएं कहां से पाते हैं, परंतु सुरक्षा परिषद और उसकी सहयोगी इकाई 1267 प्रतिबंध समिति का इस संबंध में स्पष्ट नियम है और आपको इन संस्थाओं से स्पष्टीकरण लेना होगा. उन्होंने कहा कि इस मुद्दे को सहयोग के माध्यम से हल किया जाना चाहिए और हमें भरोसा नहीं है कि अधिकांश सदस्यों की सहमति कोई भी प्रयास संतोषजनक परिणाम नहीं दे सकता है.

चीन ने कहा कि हम प्रतिबंध समिति की इस मामले में उपेक्षा की उम्मीद नहीं करते हैं. उन्होंने कहा कि संबंधित पक्ष द्वारा किसी नये प्रस्ताव लाने का हम विरोध करते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here