पश्चिम बंगाल के डाॅक्टरों की हड़ताल के समर्थन में आए देश भर के डाॅक्टर, हाइकोर्ट से ममता को फटकार

0
6

 

कोलकाता/नयी दिल्ली : पश्चिम बंगाल के एनआरएस हाॅस्पिटल में एक मरीज की मौत के बाद डाॅक्टर की पिटाई के विरोध में पश्चिम बंगाल के डाॅक्टरों की हड़ताल जारी है. पश्चिम बंगाल के डाॅक्टरों की हड़ताल को आज देश भर के डाॅक्टरों का समर्थन मिला. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के आह्वान पर देश भर के डाॅक्टर आज पश्चिम बंगाल के डाॅक्टरों के समर्थन में हड़ताल पर गए. डाॅक्टरों ने खुद की सुरक्षा के लिए केंद्रीय कानून की मांग की है.

वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डाॅ हर्षवर्धन ने कहा है कि डाॅक्टरों को भरोसा दिलाया है कि सरकार उनकी सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध है. उन्होंने डाॅक्टरों से अपील की कि वे सिर्फ प्रतिकात्मक विरोध करें और अपनी ड्यूटी को जारी रखें. उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से अपील की कि वे डाॅक्टरों के मामले को अपने सम्मान का विषय नहीं बनाए. उन्होंने कहा ममता बनर्जी ममता बनर्जी ने डाॅक्टरों को अल्टीमेटम दिया जिसके परिणामस्वरूप वे नाराज हो गए और हड़ताल पर चले गए. उन्होंने कहा कि वे ममता बनर्जी को पत्र लिख रहे हैं और उनसे इस मुद्दे पर वार्ता करने का प्रयास कर रहे हैं.

पश्चिम बंगाल में आज मारपीट व उसके बाद राज्य सरकार के रवैये के विरोध में 69 डाॅक्टरों ने इस्तीफा दे दिया है. पश्चिम बंगाल में आज चैथे दिन स्वास्थ्य सेवाएं ठप हैं. वहीं, कलकत्ता हाइकोर्ट ने आज इस मामले में ममता बनर्जी सरकार को फटकार लगायी है और कहा है कि उन्होंने डाक्टरों से बातचीत कर समस्या सुलझाने का प्रयास क्यों नहीं किया. अदालत ने यह भी पूछा है कि डाॅक्टरों की सुरक्षा के लिए क्या कदम उठाए गए हैं. कोर्ट ने पश्चिम बंगाल सरकार को जवाब देने के लिए एक सप्ताह का वक्त दिया है.

मालूम हो कि ममता बनर्जी ने गुरुवार तक डाॅक्टरांें को काम पर लौटने का अल्टीमेटम दिया था. ममता बनर्जी के तेवर पर पश्चिम बंगाल भाजपा के प्रभारी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर उन पर निशाना साधा है. विजयवर्गीय ने ट्वीट किया है – ममता बनर्जी, आप प्रदेश की स्वास्थ्य मंत्री भी हैं, आपके अहंकार के कारण पिछले चार दिनों में कितने लोगों ने मौत का दरवाजा खटखटाया है…कुछ तो शर्म करो…

पश्चिम बंगाल के डाॅक्टरों को आज केरल, पंजाब, दिल्ली, छत्तीसगढ, महाराष्ट्र सहित कई राज्यों के डाॅक्टरों से समर्थन मिला. वहीं, राजस्थान के जयपुर में जयपुरिया अस्पताल के डाॅक्टरों ने हाथ में काला बिल्ला बांधकर ड्यूटी की और अपना विरोध जताया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here