बुलंदशहर हिंसा : 30 दिन बाद पकड़ा गया मुख्य आरोपी योगेश राज

0
15

गोकशी की अफवाह को लेकर बुलंदशहर में हुए हिंसा का मुख्य आरोपी योगेश राज उत्तर प्रदेश पुलिस के गिरफ्त में आ गया है. 30 दिनों से फरार चल रहे योगेश राज को पुलिस नहीं पकड़ पायी थी. वहीं बजरंग दल के नेताओं ने ही योगेश राज को पुलिस को सौंप दिया. बता दें कि योगेश राज बुलंदशहर जिले का बजरंग दल संयोजक था. पुलिस आज इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकती है.

उधर गिरफ्तारी के बाद योगेश राज को आज कोर्ट में पेश किया जायेगा. योगेश राज पर हिंसा भड़काने का आरोप है. गोहत्या के मामले में उसने ही पुलिस के पास एफआइआर दर्ज कराया था. मीडिया के माध्यम से मुख्य आरोपी बनाये जाने की सूचना मिलते ही योगेश राज ने एक वीडियो भी जारी किया था. गौरतलब है कि इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की मौत हो गयी थी.

क्या था मामला

बुलंदशहर के स्याना इलाके में कथित रूप से गोवंश के अवशेष मिलने के बाद हिंसा फैल गई थी. गोवंश के अवशेष मिलने के बाद पुलिस को इसकी सूचना दी गई थी, पुलिस मौके पर पहुंची तो वहां लोगों की भीड़ पहले से वहां मौजूद थी. पुलिस भीड़ को समझाने की कोशिश कर रही थी, लेकिन लोग काफी उग्र थे और उन्होंने पुलिस पर ही हमला कर दिया. हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी गई. वहीं गोली लगने से सुमित नाम का एक युवक भी मारा गया था.

पुलिस ने इस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर कुल्हाड़ी से हमला करने वाले कलुआ उर्फ राजीव को 28 दिन बाद सोमवार देर रात गिरफ्तार किया था. पुलिस के मुताबिक कलुआ ने ही सबसे पहले सुबोध कुमार सिंह पर हमला किया था. कलुआ कुल्हाड़ी से पेड़ की टहनी काट सड़क जाम कर रहा था, इंस्पेक्टर ने रोका तो उसने कुल्हाड़ी से उन पर ही हमला कर दिया. मुख्य आरोपी कलुआ ने पहले इंस्पेक्टर की अंगुलियां काटी फिर कुल्हाड़ी से ही सिर पर कई वार कर दिए. इस हमले में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह बुरी तरह घायल हो गए. जख्मी हालत में इंस्पेक्टर जान बचाने खेतों की तरफ भागे तो प्रशांत नट ने उन्हें पकड़कर घुटनों के बल गिरा लिया. इसके बाद नट ने इंस्पेक्टर की ही लाइसेंसी रिवॉल्वर छीनकर उन्हें गोली मार दी.

हिंसा के 25 दिन बाद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के हत्यारे प्रशांत नट को गिरफ्तार किया गया था. इंस्पेक्टर पर गोली चलाने का आरोप नट पर ही है. वहीं, रिवॉल्वर चुराने वाले की भी पहचान हो गई है और उसकी तलाश जारी है. पुलिस के आला सूत्रों के मुताबिक़ जॉनी नाम के शख़्स ने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की रिवॉल्वर चुराई थी, वहीं, प्रशांत नट ने उन्हें गोली मारी थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here