शहनवाज हुसैन को भागलपुर से टिकट मिलने की उम्मीद बेहद कम, यह है वजह

0
98

 

नयी दिल्ली : भाजपा के तेज-तर्रार नेता शहनवाज हुसैन को इस बार भागलपुर से टिकट मिलने की उम्मीद नहीं है. सूत्रों का कहना है कि गठबंधन के तहत यह सीट नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड के खाते में चली गयी है. ऐसे में भारतीय जनता पार्टी उन्हें यहां से टिकट नहीं देगे. ऐसे में उन्हें कोसी-सीमांचल क्षेत्र की किसी सीट से टिकट देने का विकल्प खुला है, लेकिन मौजूदा राजनीतिक हालात में यह मुश्किल लग रहा है.

भारतीय जनता पार्टी को नीतीश कुमार की पार्टी को सीटें देने के कारण अपने मौजूदा पांच सांसदों का टिकट पहले से काटना पड़ रहा है. भाजपा ने पिछले चुनाव में 22 सीटें बिहार में हासिल की थी, जबकि वह इस बार 17 सीटों पर ही चुनाव लड़़ेगी.

शहनवाज हुसैन पहली बार 1999 में किशनगंज सीट से चुन कर सांसद बने थे और वाजपेयी सरकार में कैबिनेट मंत्री बने थे. बाद में उन्हें सुशील कुमार मोदी के डिप्टी सीएम बनने के कारण भागलपुर से चुनाव लड़़ाया गया, जहां से जीते भी. वे 2006 के उपचुनाव में यहां से जीते और फिर 2009 के आम चुनाव में भी जीते, लेकिन 2014 में मोदी लहर के बावजूद इस सीट को वे गंवा बैठे. शहनवाज हुसैन हारने के बाद भागलपुर की स्थानीय राजनीति में लगातार सक्रिय रहे ताकि उनकी इस सीट पर दावेदारी कायम रहे, लेकिन अब यह मुश्किल नजर आ रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here