पंडारक हत्याकांड: नीतीश को बड़ी राहत, नहीं चलेगा मामला

0
4
file photo

पटना। पटना उच्‍च न्‍यायालय ने पंडारक हत्‍याकांड में बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बड़ी राहत दी है। उच्‍च न्‍यायालय ने बाढ़ की निचली अदालत द्वारा उनके खिलाफ लिए गए संज्ञान को रद्द कर दिया है। नीतीश कुमार अपने खिलाफ आपराधिक या‍चिका को खा‍रिज कराने के लिए उच्‍च न्‍यायालय की शरण में गए थे। न्‍यायूमर्ति ए अमानुल्लाह ने इस मामले में सुनवाई पूरी करने के बाद मामला सुरक्षित रख लिया था।

मालूम हो कि 1991 में हुए लोकसभा उप चुनाव के दौरान मतदान करके लौट रहे गांव ढीवार निवासी सीताराम सिंह की गोली मारकर हत्‍या कर दी गई थी। जिस समय सीताराम की हत्‍या हुई तब उनका भाई अशोक सिंह भी साथ था। अशोक सिंह ने उसी दिन नीतीश कुमार और कुछ अन्‍य लोगों पर अपने भाई की हत्‍या का आरोप लगाते हुए पटना जिले के बाढ़ अनुमंडल में स्थित पंडारक थाना में मामला दर्ज कराया था। इस मामले में 1 सितंबर 2009 को बाढ़ के तत्‍कालीन एसीजेएम रंजन कुमार ने तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को दोषी पाया था और उनपर ट्रायल शुरू करने का आदेश दे दिया था। बाद में ये मामला उच्‍च न्‍यायालय पहुंचा था।

लालू यादव पर क्‍यों नजर रखा है चुनाव आयोग

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here