गोपालगंज: ‘काल’ बनी मच्छर भगाने वाली क्वायल, 3 बच्‍चों की झुलसने से मौत, दो गंभीर

0
12
file photo

गोपालगंज। बिहार के गोपालगंज में शुक्रवार रात मच्‍छर भगाने वाले क्‍वालय तीन बच्‍चों की मौत का काल बन गई। जबकि दो अन्‍यों की हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने शवों को पोस्‍टमार्टम के लिए भेज कर आग लगने के कारणों की जांच शुरू कर दी है।

नगर थाना क्षेत्र के हजियापुर मोहल्ले में वार्ड नंबर 8 दलित बस्ती के निवासी दिनेश मांझी की बहन सुगन्‍ती देवी अपने बच्‍चों के साथ उसके पास आई हुई थी।

हरेंद्र रावत की पत्‍नी सुगन्‍ती देवी शुक्रवार रात अपने पांच बच्‍चों के साथ झोपड़ी में सो रही थी। मच्‍छरों को भगाने के लिए क्‍वायल हुई थी। तभी क्‍वायल की वजह से झोपड़ी में आग लग गई। आग इतनी तेजी से फैली की सभी उसमें फंस गए। आग की वजह से सभी बच्‍चे बुरी तरह से झुलस गए। जिसमें 4 वर्ष के जीतन मांझी ने मौके पर दम तोड़ दिया। वहीं, डेढ़ वर्षीय सूरज ने अस्‍पताल के रास्‍ते में दम तोड़ दिया। वहीं इलाज के दौरान सनी ने आज सुबह अस्‍पताल में दमतोड़ दिया। बुरी तरह से झुलसी मनीषा की हालत गंभीर बनी हुई है। सुगन्ती देवी बेतिया जिले के नौतन थाना के मझवालिया गांव में रह रही है। इस बीच, नगर थाना के एएसआई सुरेश प्रसाद सिंह ने कहा कि आग लगने के कारणों का पता लगाया जा रहा है।

लोकसभा चुनाव: नक्‍सलियों ने हमला कर स्‍कूल को फूंका, बनाया जा रहा था सुरक्षाबलों के लिए शिविर

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here