गोपालगंज: प्राकृतिक आपदा ने बारह घंटे में दस को लीला

0
5
file photo

गोपालगंज। बिहार के गोपालगंज में सोमवार को आई आंधी और बारिश की वजह से 12 घंटे के भीतर 10 लोगों की जान चली गई। मृतकों के परिजनों ने सरकार से मुआवजे की मांग की है।

कुचायकोट में सोमवार की शाम तेज आंधी पानी आने से एक शख्स की मौत हो गई। वहीं, बरौली के बनकट गांव के समीप एनएच 28 पर तेज आंधी के कारण पेड़ उखड़ कर एक ढाबे पर गिर गया। जिससे वहां पर बैठे नौ लोग दब गए। इनमें से तीन लोगों की मौके पर मौत हो गई। छह अन्‍य घायल हो गए।

उधर, सिधवलिया के पिपरा में आंधी की वजह से दीवार गिर गई। दीवार से दब कर एक बुजुर्ग की मौत हो गई।
बैकुंठपुर के दिघवा दुबौली में मंगलवार तड़के ट्रक की चपेट में आने से दो बाइक सवार युवकों की मौके पर ही मौत हो गई। दोनों दिघवा गांव के निवासी थे।

पूर्व विधायक मंजीत सिंह के अनुसार तेज आंधी-पानी और ओलावृष्टि की वजह से क्षेत्र में 10 लोगों की मौत हो गई है, जकबकि एक दर्जन से ज्यादा लोग घायल है। घायलों का सदर अस्‍पताल में इलाज चल रहा है। सिंह ने मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा दिलाने के लिए मुख्‍यमंत्री नीतीश के परामर्शी अंजनी सिंह से मुलाकात की।

मृतकों में 60 वर्षीय शिवनाथ पाण्डेय (सरफरा, बरौली), 65 वर्षीय जनक साह बुधसी (सिधवलिया), 50 वर्षीय गंगा शरण यादव (बरनैया बीसा, कुचायकोट), 20 वर्षीय राजदेव यादव (हलवार पिपरा , सिधवलिया), 60 वर्षीय रामलाल मांझी (हलवार पिपरा, सिधवलिया), 46 वर्षीय सुरेन्द्र राम (रामनगर टोला, भोरे) और 17 वर्षीय बुलेट कुमार (बनकट, बरौली) भी शामिल हैं।

पाकिस्‍तान की फायरिंग में खगड़िया का लाल शहीद, परिजन बोले- शहादत पर गर्व

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here