बिहार : दिल्ली में महागठबंधन की बैठक के बाद तेजस्वी का दावा मतभेद नहीं, यह है सीट बंटवारे का फार्मूला

0
20

 

नयी दिल्ली : महागठबंधन के घटक दलों ने आज दिल्ली में बैठक कर सीट बंटवारे पर चर्चा की और इसे लगभग अंतिम स्वरूप दे दिया. बैठक के बाद राजद नेता तेजस्वी यादव ने दावा कि महागठबंधन के सभी नेता यहां बैठक में शामिल हुए और सीट बंटवारे पर चर्चा की. उन्होंने कहा कि हमारे बीच किसी तरह का कन्यफ्यूजन नहीं है और हमलोग इसको लेकर बहुत स्पष्ट हैं.

वहीं, सूत्रों के हवाले से महागठबंधन के बीच सीटों के बंटवारे पर सहमति बनने की खबरें आ रही हैं, जिसमें लेफ्ट को भी जगह देने की बात कही जा रही है. वाम दलों को दी सीटें आरा एवं बेगूसराय दी जा सकती हैं. बेगूसराय से जेएनयू छा़त्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के चुनाव लड़ने की संभावना है.

वहीं, जीतन राम मांझी की हम पार्टी को गया व नवादा की सीट दी जा सकती है. गया सीट से खुद जीतन राम मांझी मैदान में उतरेंगे. वे खुद इसके लिए लंबे समय से प्रयास भी कर रहे थे.

लोकतांत्रिक जनता दल के नेता शरद यादव मधेपुरा से चुनाव लड़ेंगे. मुजफ्फरपुर की सीट मल्लाह समुदाय के नेता मुकेश साहनी की पार्टी को को दी जाएगी. उनकी व शरद यादव की पार्टी को एक-एक सीट दी जा रही है. हालांकि आज बैठक से पहले साहनी ने दरभंगा सीट से लड़ने की इच्छा जतायी थी, पर साथ ही यह भी कहा था कि जिस पर सहमति बनेगी वे तैयार हैं. दरअसल, दरभंगा से कीर्ति झा आजाद भाजपा के सांसद हैं, लेकिन वे यहां से इस बार कांग्रेस से चुनाव लड़ेंगे.

रालोसपा को तीन सीटें मिलेंगी. इसमें मोतीहारी, सीतामढी और काराकाट सीटें शामिल हैं. काराकाट से उपेंद्र कुशवाहा सांसद हैं और वे यहीं से चुनाव लड़ेंगे. सीतामढी से राम कुमार शर्मा रालोसपा के मौजूदा सांसद हैं और वे यहां से फिर लड़ेंगे. वहीं, मोतीहारी सीट से माधव आनंद चुनाव लड़ेंगे.

राष्ट्रीय जनता दल को 20 सीटें लड़ने की संभावना है. पाटलीपुत्र सीट से मीसा भारती, वैशाली से रघुवंश प्रसाद सिंह, मधुबनी से अब्दुल बारी सिद्दीकी, बांका से जयप्रकाश नारायण यादव, बक्सर से जगदानंद सिंह के चुनाव लड़ने की संभावना है. कांग्रेस 11 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here